World Heritage Day कब और क्यों मनाया जाता है? UNESCO का इतिहास

World Heritage Day

पूरी दुनिया 18 अप्रैल को World Heritage Day मनाती है, लेकिन क्या आपको पता है की इसकी सुरुआत कब से हुई थी और क्यो प्रति वर्ष यह मनाया जाता है? आज हम इसी के विषय में जानेगे। आज यह पूरे विषय में मनाया जाता है। 18 अप्रैल को World Heritage Day के नाम से जाना जाता है।

World Heritage Day का मतलब क्या है?

World Heritage Day को हम विश्व धरोहर दिवस कहते है। इसका मतलब साफ़ है कि पूरे विश्व में पुरानी इमारते, या एतिहासिक स्थलों के विषय में लोगो को बताया जाये। लोगो को इस मामले में जागरूक किया जाये। इसी उद्देश्य के साथ हम विश्व धरोहर दिवस मनाते है।

आज विश्व में कई सारे एतिहासिक स्थल है और इन सभी स्थलों को एक साथ जोड़ने का काम किया है यूनेस्को UNESCO ने। यूनेस्को, संयुक्त राष्ट्र UN का ही एक अंग है। यह विश्व की सभी प्राचीन धरोहरों को इक साथ जोड़ता है। आज यूनेस्को की लिस्ट में कई सारे देशो की एतिहासिक स्थल सामिल है।

यूनेस्को में 193 देश सामिल है। यूनेस्को का गठन संयुक्त राष्ट्र ने 16 नवम्बर 1945 में किया था। इस संगठन का उद्देश सभी देशो की संस्कृत को एक साथ जोड़ना था। UNESCO का मुख्यालय पेरिस में है।

वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स In India

भारत ने यूनेस्को संगठन 4 नवम्बर 1946 को ज्वाइन किया था। तब से भारत UNESCO का सदस्य है। लेकिन कुछ ऐसे भी देश है जो UN के सदस्य है पर UNESCO के सदस्य नही है जैसे- इजराइल, संयुक्त राज्य, लिकटेंस्टीन। तीन ऐसे भी देश है जो UNESCO के तो सदस्य है पर UN के सदस्य नही है जैसे- कुक आइलैंड्स, नीयू और फिलिस्तीन।

World Heritage Day

भारत में 38 World Heritage Sites है जोकि नीचे लिस्ट आपको दी गयी है।

  1. Agra Fort (1983)
  2. Ajanta Caves (1983)
  3. Archaeological Site of Nalanda Mahavihara at Nalanda, Bihar (2016)
  4. Buddhist Monuments at Sanchi (1989)
  5. Champaner-Pavagadh Archaeological Park (2004)
  6. Chhatrapati Shivaji Terminus (formerly Victoria Terminus) (2004)
  7. Churches and Convents of Goa (1986)
  8. Elephanta Caves (1987)
  9. Ellora Caves (1983)
  10. Fatehpur Sikri (1986)
  11. Great Living Chola Temples (1987,2004)
  12. Group of Monuments at Hampi (1986)
  13. Group of Monuments at Mahabalipuram (1984)
  14. Group of Monuments at Pattadakal (1987)
  15. Hill Forts of Rajasthan (2013)
  16. Historic City of Ahmadabad (2017)
  17. Humayun’s Tomb, Delhi (1993)
  18. Jaipur City, Rajasthan (2019)
  19. Khajuraho Group of Monuments (1986)
  20. Mahabodhi Temple Complex at Bodh Gaya (2002)
  21. Mountain Railways of India (1999,2005,2008)
  22. Qutb Minar and its Monuments, Delhi (1993)
  23. Rani-ki-Vav (the Queen’s Stepwell) at Patan, Gujarat (2014)
  24. Red Fort Complex (2007)
  25. Rock Shelters of Bhimbetka (2003)
  26. Sun Temple, Konârak (1984)
  27. Taj Mahal (1983)
  28. The Architectural Work of Le Corbusier, an Outstanding Contribution to the Modern Movement (2016)
  29. The Jantar Mantar, Jaipur (2010)
  30. Victorian Gothic and Art Deco Ensembles of Mumbai (2018)
  31. Great Himalayan National Park Conservation Area (2014)
  32. Kaziranga National Park (1985)
  33. Keoladeo National Park (1985)
  34. Manas Wildlife Sanctuary (1985)
  35. Nanda Devi and Valley of Flowers National Parks (1988,2005)
  36. Sundarbans National Park (1987)
  37. Western Ghats (2012)
  38. Khangchendzonga National Park (2016)

आज विश्व में लगभग 1121 World Heritage Site है, इसमें से 38 भारत में है। भारत में 38 से भी ज्यादा Heritage Sites है, पर उन्हें इस सूची में सामिल नही किया गया है। भारत में कई सारे प्राचीन मंदिर आदि भी है।

यूनेस्को का यह कदम संस्कृतिक और आर्थिक दृष्टि से भी अच्छा है। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलता है। साथ ही साथ लोगो को एक दूसरे की संस्कृति के विषय में जानने को भी मिलता है।

लिपि किसे कहते है – पढ़े

निष्कर्ष – हमने इस आर्टिकल में बात की World Heritage Day के बारे और जाना की World Heritage की शुरुआत क्यो हुई थी। यदि आपका अभी भी इस विषय से जुडा हुआ कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट के मध्यम से बता सकते है हम आपकी हर सम्भव मदद करने का प्रयास करेगे।