News Full Form क्या होता है?

News Full Form

आज सब लोग न्यूज़ तो हमेशा ही देखते होंगे लेकिन क्या आपको news full form क्या होता है यह पता है? आज हम इसी विषय पर बात करेगे और जानेगे की न्यूज़ फुल फॉर्म क्या होता है? आज के समय में न्यूज़ या समाचार हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुका है। हम में से शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जो रोज समाचार न देखता हो या पढता हो। हम रोज कुछ मिनट तो समाचार देखने में ही निकाल देते है, और यह एक अच्छी बात भी है। देश और दुनिया में क्या चल रहा है इसकी जानकारी होना भी अच्छी बात है।

लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की जो NEWS हम रोज देखते है उसका मतलब या फुल फॉर्म क्या होता है। कोई बात नही यदि आप नही जानते है की News ka full form क्या होता है तो आज हम इसी विषय पर विस्तार पूर्वक जानेगे और समझेगे।

News Full Form in hindi – न्यूज़ फुल फॉर्म

News Full Form – North East West South होता है, यदि आप भी यही सोचते है तो यह गलत है। News को New शब्द से बनाया गया था, यह New का एक बहुवचन रूप है। News शब्द से पहले सभी देशो में अलग अलग शब्दों को न्यूज़ के स्थान पर प्रयोग किया जाता था। News में कई प्रकार की घटनाये सामिल होती है। जैसे पॉलिटिक्स, शिक्षा, व्यापार, टेक्नोलॉजी, स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था और भी कई प्रकार की घटनाये।

Hello Meaning In Hindi – Read

कुछ लोगो का मानना है की NEWS के माध्यम से हमें चारो दिशाओ की जानकारी मिलती है, इसलिए न्यूज़ शब्द को चारो दिशाओ के पहले अक्षरों के साथ जोड़कर बनाया गया है।

आज हमे न्यूज़ के ही माध्यम से विभिन्न क्षेत्रो के विषय में जानकारी मिल पाती है। एक समय न्यूज़ सिर्फ समाचार पत्रों के माधयम से ही दिया जाता था, फिर धीरे धीरे रेडियो और आज तो कई माधयम उपलब्ध है। चाहे आप TV पर News देखे या फिर किसी सोशल मीडिया पर जानकर देखे।

पहले तो सिर्फ सरकारी एजेंसी ही हुआ करती थी जोकि न्यूज़ लोगो तक पहुचाती थी, लेकीन आप कई सारी Privet News Company है जो Live News आदि कवर करती है। आज समाचार पत्र लगभग कम ही रो रहे है लोग e paper का यूज़ करते है और Live News देखना ही पसंद करते है।

News की शुरुआत कब से हुई?

माना जाता है कि 14वी शदी में News की शुरुआत की गयी थी। उस समय न्यूज़ शब्द किसी भी देश में प्रयोग नही किया जाता था। समाचार पत्र का चलन काफी समय से है। हजारो साल पहले भी समाचार पत्र हुआ करते थे तब लोग अपना सन्देश किसी नागरिक के हाथो भेजा करते थे। और उसी सन्देश पत्र के माध्यम से लोगो तक समाचार पहुचता था। यह भी एक न्यूज़ का प्रकार हुआ करता था।

धीरे धीरे समय के अनुसार इन्सान विकास करता गया और अपनी जरूरत की वस्तुए खोजता गया। जिसका परिणाम आज हमारे सामने है। आज सोशल मीडिया भी है और इन्टरनेट भी है। व्यक्ति तभी अविष्कार करता है जब उसे जरूरत लगाती है किसी ने सही ही कहा है की आवश्यकता ही अविष्कार की जननी है।

निष्कर्ष – दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में News Full Form के विषय में जाना। हमने यह भी जाना की न्यूज़ की शुरुआत कब से हुई। यदि आपका इस विषय से जुड़ा कोई भी प्रश्न है तो आज हमें कमेंट के मध्यम से बता सकते है।